दीनदयाल उपाध्याय ने एक विचार को विकल्प बना दिया : PM मोदी

0
377

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 09.10.16 की सुबह, दीनदयाल उपाध्याय के जन्म के 100 साल पूरे होने के मौके पर उनके संदेश का प्रसार करने के लिए उनके कार्यों की एक श्रृंखला का विमोचन किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि दीनदयाल उपाध्याय संपूर्ण वाङ्मय की 15 किताबें उनकी जीवन यात्रा की त्रिवेणी है। उन्होंने कहा कि दीनदयाल का जीवनकाल लंबा नहीं था लेकिन उन्होंने एक विचार को विकल्प बना दिया।

मोदी ने कहा कि वो कहते थे कि राष्ट्र में जो सेना है, वो सेना अत्यंत सामर्थ्यवान होनी चाहिए, तब जाकर राष्ट्र सामर्थ्यवान बनता है। उन्होंने आगे कहा कि मैंने सुना है कि गुजरात में जनसंघ का मजाक उड़ाते हुए कहते थे कि दीवार पर दीपक बनाने से क्या जीत जाओगे। यह पंडित जी का ही विश्वास था कि आज हमारी विचार यात्रा यहां पहुंची है। उन्होंने कहा कि एक वक्त में जनसंघ के नेता जमानत बचने पर पार्टी करते थे। यह अपने विचार के प्रति अद्भुत श्रद्धा का परिणाम था। पीएम मोदी ने कहा कि सेना अत्यंत सामर्थवान हो, हमारा देश शक्तिमान हो। सामर्थवान भारत समय की मांग है।

15 संस्करण वाले ‘द कम्प्लीट वर्क्स ऑफ दीनदयाल उपाध्याय’ संग्रह में उपाध्याय के जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं और 1965 भारत-पाकिस्तान युद्ध, ताशकंद समझौता और गोवा की मुक्ति जैसी अहम घटनाओं समेत देश और जन संघ की यात्रा को रेखांकित किया गया है। इसके अंतिम में पहले वाले संस्करण में उपाध्याय के 1967 में जनसंघ प्रमुख बनने के तुरंत बाद उनकी हत्या संबंधी घटनाओं की भी जिक्र किया गया है।

For Latest all India Govt Jobs Recruitments Visit govt jobs for Staff Nurse in india

कोई जवाब दें