कितनी मीठी है ये मिठाइयाँ..!

0
454

त्योहारों का सीजन शुरू हो गया है, और लोगों ने खरीदारी शुरु कर दी है। और त्योहारों के समय शहरों में कई छोटी-छोटी नई दुकानें खुलती है जो त्योहारों के बाद बेद कर दी जाती है। ऐसी दुकानों पर नकली घी, नकली खोया व पनीर से बनी मिठाई की बिक्री होती है। छोटी दुकानों पर ही नहीं मिलावट के मामले में बड़ी दुकानें भी शामिल होती है।

सूत्रों की माने तो हर साल की तरह शहर में नकली खोया व पनीर पहुंचना शुरू हो चुका है और स्वास्थ्य विभाग अभी तक कुछ नहीं कर पाई। पिछले कई वर्षों से देखा जाए तो स्वास्थ्य विभाग ने शहर में कोई बड़ा मामला नहीं पकड़ा है। जबकि हकीकत तो यह है कि शहर में नकली खोया व पनीर का प्रयोग होता है। यहाँ तक की कुछ तो ऐसे दुकानदार भी हैं जो ज़्यादा फायदे के लिए एक महीने पहले ही मिठाई बनवाकर फ्रिज में रखवा देते हैं।

हैरानी की बात यह है कि नामी स्वीट हाउस से सैंपल्स भी नही लिए जाते। और सैंपल लेने वाली टीम में हैं मात्र दो ही लोग है। अब इतनी बड़ी जनसंख्या के शहर में दो लोगों की टीम नकली खोया व पनीर के धंधे को कैसे रोक पाएगी।

For Latest all India Govt Jobs Recruitments Visit govt jobs for Staff Nurse in india

कोई जवाब दें